एशियाई बैडमिंटन में दमखम दिखाएंगे हैबतपुर के आकाश-विकास

-कड़ी मेहनत की बदौलत हैबतपुर गांव की पगडंडियों से अंतरराष्ट्रीय मुकाम हासिल किया
-म्यांमार में अक्टूबर के पहले सप्ताह में खेली जाएगी प्रतियोगिता
नोएडा। खेलरत्न, सं : Time, 7:00, PM.
गांव की पगडंडियों से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मुकाम हासिल करने वाले आकाश और विकास यादव का चयन एशियाई जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप के लिए किया गया है। प्रतियोगिता 4 अक्टूबर से म्यांमार में खेली जाएगी। इससे पहले भारतीय टीम के खिलाड़ी बेंगलुरु में लगने वाले अभ्यास शिविर में शामिल होंगे। आकाश-विकास सगे भाई हैं और देश के श्रेष्ठ 5 खिलाड़ियों में शुमार हैं।

akash-vikash

नोएडा के दोनों खिलाड़ियों का चयन एक सप्ताह पहले किया गया। आकाश अंडर-17 और विकास अंडर-15 के एकल वर्ग में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे। बेंगलुरु में 15 दिनों तक चलने वाला अभ्यास शिविर 16 सितंबर से शुरू होगा। इसके बाद टीम म्यांमार के लिए रवाना होगी। प्रतियोगिता में बेहतर प्रदर्शन के लिए आकाश और विकास ड्रॉप शॉट और स्मैश पर विशेष ध्यान दे रहे हैं। दोनों ने बताया कि प्रतिदिन करीब 8-10 घंटे का अभ्यास चल रहा है। प्रतियोगिता में सकारात्मक परिणाम आने की उम्मीद है। दोनों के पिता मुकेश कुमार ने बताया कि बेटों का भारतीय टीम में चयन से पूरा परिवार खुश है। हमें दोनों बेटों पर गर्व है। वे प्रतियोगिता में जरुर बेहतर प्रदर्शन करेंगे।

विकास ने युगल वर्ग का ऑल इंडिया बैडमिंटन चैंपियनशिप जीती
विकास यादव ने दो दिन पहले आंध्र प्रदेश में समाप्त हुई ऑल इंडिया जूनियर बैडमिंटन चैंपियनशिप के युगल वर्ग खिताब अपने नाम किया। उन्होंने चयनित जोशी के साथ जोड़ी बनाते हुए उत्तराखंड की जोड़ी को सीधे सेटों में मात दी। विकास अंडर-15 के खिलाड़ी हैं, लेकिन राष्ट्रीय स्तर पर अंडर-17 और 19 में भी शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। अंडर-17 के एकल वर्ग में इस खिलाड़ी ने सेमिफाइनल तक का सफर तय किया। भविष्य में इनसे और भी बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है।

किसान हैं आकाश-विकास के पिता
आकाश और विकास के पिता मुकेश यादव किसान हैं। उनके दादा भी जगपाल सिंह भी इसी से जुड़े थे। दोनों बेटों की बैडमिंटन में रुचि को देखते हुए नोएडा स्टेडियम भेजा। यहां करीब दो साल अभ्यास करने के बाद राष्ट्रीय स्तर पर उनकी प्रतिभा दिखने लगी थी। इसके बाद उन्हें दिल्ली में निशुल्क प्रशिक्षण के लिए बुलाया गया। यहां भी करीब 4 साल तक दोनों ने अभ्यास किया। दोनों राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में दिल्ली का ही प्रतिनिधित्व करते हैं। करीब चार महीने से आकाश और विकास हैदराबाद स्थित गोपीचंद की एकेडमी में खेल के गुर सीख रहे हैं।

 

Leave a Reply