बेबी लीग में ड्रिबलिंग और वन टू वन से नन्हें फुटबॉलरों ने दागा गोल

नोएडा। खेलरत्न, सं : Time, 9:00, PM.
सेक्टर-21 स्थित नोएडा स्टेडियम के फुटबॉल ग्राउंड का नजारा रविवार को कुछ बदला सा था। पांच से आठ साल की उम्र के फुटबॉलरों की तकनीकी क्षमता ने लोगों में रोमांच भर दिया। मौका था बेबी लीग की शुरुआत का। पहले दिन प्रतियोगिता के दो मुकाबलों में नन्हें खिलाड़ियों ने प्रतिभा का प्रदर्शन किया। बेबी लीग में चार महीने तक प्रत्येक शनिवार व रविवार को छह से 12 वर्ष की उम्र तक के खिलाड़ियों को मैच खेलने का मौका मिलेगा। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ की देखरेख में इस टूर्नामेंट का आयोजन होगा।

बेबी फुटबॉल लीग शुरू होने से पहले मैच में शामिल होने वाली टीम

अंडर छह के मुकाबले में नोएडा यंग ने फ्रेंड्स क्लब को 2-0 से मात दी। इस मुकाबले में नोएडा यंग के कियान ने शानदार ड्रिबल करते हुए प्रतिद्वंद्वी टीम के खिलाफ गोल किया। दूसरा गोल भी इसी खिलाड़ी ने किया। वहीं अंडर आठ में कॉसमॉस क्लब ने रॉयल क्लब को 1-0 से हराया। टीम के लिए एकमात्र गोल मैच के अंतिम समय में ऋषि ने किया। इस लीग में आरडब्ल्यूए, क्लब, एकेडमी, संस्था, गांव, सहित जिले के किसी भी स्थान के खिलाड़ी शामिल हो सकते हैं। इसके लिए उन्हें जन्म प्रमाण पत्र लाना होगा। इस महीने प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए कई और नई टीमें आएंगी। टूर्नामेंट का उद्घाटन पूर्व अंतरराष्ट्रीय हॉकी खिलाड़ी एचजेएस चिमनी ने किया। इस मौके पर प्रभातम ग्रुप के सीईओ राकेश शर्मा, पूर्व अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर अनादि बरुआ, दिल्ली अंडर-14 फुटबॉल टीम के मुख्य प्रशिक्षक जोगिंदर रावत, अमिता देव सहित कई लोग मौजूद रहे।

ज्यादातर मुकाबले रविवार को होंगे
नोएडा स्टेडियम में प्रत्येक शनिवार और रविवार को बेबी लीग के तहत मुकाबले खेले जाएंगे। टूर्नामेंट से पहले ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन के पदाधिकारी स्टेडियम की सुविधाओं का जायजा ले चुके हैं। पूर्व अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर व भारतीय महिला फुटबॉल टीम के पूर्व मुख्य प्रशिक्षक अनादि बरुआ की देखरेख में प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी। इसमें क्लब, आरडब्ल्यूए, संस्था, एकेडमी आदि की टीमें भाग ले रही हैं। लीग में 5 से 12 साल की उम्र तक की खिलाड़ियों को 25 मैच खेलने का मौका मिलेगा। इस प्रतियोगिता के बाद नोएडा एकेडमी की टीम ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन की एलिट यूथ लीग के विभिन्न आयुवर्ग की प्रतियोगिता में भाग लेगी। भारतीय महिला फुटबॉल टीम के पूर्व मुख्य प्रशिक्षक अनादि बरुआ ने बताया कि इस लीग की शुरुआत से काफी कम उम्र के खिलाड़ियों को तराश सकेंगे। इसका फायदा भविष्य में दिखेगा। बेबी लीग से फुटबॉल के स्तरीय खिलाड़ी निकाले जा सकेंगे। बेहतर प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन आगे बढ़ाएगा।

बेबी लीग खेलकर कई खिलाड़ी बने फुटबॉल के दिग्गज
फुटबॉल के अग्रणी देशों में पहले से बेबी फुटबॉल लीग का आयोजन हो रहा है। ब्राजील, स्पेन, जर्मनी, फ्रांस, इंग्लैंड सहित अन्य देशों में 5-12 साल की उम्र के कई खिलाड़ी फुटबॉल में दम दिखा रहे हैं। लियोन मेसी, क्रिश्चियानो रोनाल्डो सहित चोटी के फुटबॉलरों ने बेबी फुटबॉल लीग में शामिल होकर खेल की शुरुआत की है। पूर्व अंतरराष्ट्रीय फुटबॉलर अनादि बरुआ बताते हैं कि इन देशों में प्रत्येक मैदान पर छोटे-छोटे बच्चे फुटबॉल खेलते दिख जाएंगे। जिससे बड़े होने पर उनकी क्षमता और तकनीक काफी बेहतर होती है।

Leave a Reply