राष्ट्रीय जूनियर तैराकी में दिशा भंडारी ने तरणताल से निकाला रजत

नोएडा। खेलरत्न सं : Time, 10:30, PM.
राष्ट्रीय जूनियर तैराकी प्रतियोगिता में ग्रेटर नोएडा डीपीएस की छात्रा दिशा भंडारी ने रजत पदक अपने नाम किया है। उन्होंने 100 मीटर बटरफ्लाई स्पर्धा में दूसरा स्थान पक्का यह उपलब्धिक हासिल करने वाली प्रदेश की दूसरी महिला तैराक बन गई हैं। इससे पहले उत्तर प्रदेश से दो साल पहले आलिया सिंह ने स्वर्ण पदक झटका था। उन्हें तीन सप्ताह पहले हुई राज्य तैराकी में उन्हें बेस्ट स्वीमर का तमगा मिला था। गुजरात के राजकोट में यह प्रतियोगिता खेली जा रही है।

दिशा भंडारी

दिशा भंडारी ने 100 मीटर बटरफ्लाई स्पर्धा में एक मिनट सात सेकेंड का समय निकालते हुए रजत पदक अपनी झोली में डाला। राष्ट्रीय जूनियर तैराकी की तीन और स्पर्धाओं में दिशा भाग लेंगी। इन स्पर्धाओं में भी उनसे पदक की उम्मीद की जा रही है। इनके अलावा नव्या सिंघल, आलिया सिंह, आर्या सिंह, अनन्या सिंह, तनिषा सिंह, भी विभिन्न स्पर्धाओं में पदक के लिए दम दिखाएंगी। सभी तैराक उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। शांतनु मोहंती और राजू चौधरी दिशा को तैराकी की बारीकियां बता रहे हैं। 27 से 30 जून तक जिले की तैराक विभिन्न स्पर्धाओं में भाग लेंगी। अन्य तैराकों से भी बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है। जिला तैराकी संघ के सचिव सुरेश देशवाल ने बताया कि राष्ट्रीय जूनियर तैराकी में पदक जीतकर दिशा ने जिले और प्रदेश का मान बढ़ाया है। दिशा व अन्य तैराकों से और पदक जीतने की उम्मीद है।

दिशा का राष्ट्रीय प्रतियोगिता में पहला पदक
दिशा भंडारी का राष्ट्रीय जूनियर तैराकी में करियर का पहला पदक है। इससे पहले वह तीन बार राष्ट्रीय सब जूनियर व जूनियर प्रतियोगिता में भाग ले चुकी हैं। ऐसे में यह पदक उनके लिए काफी मायने रखता है। दिशा भंडारी बताती हैं कि इस पदक का मुझे इंतजार था। आने वाली स्पर्धाओं में भी बेहतर प्रदर्शन कर पदक जीतने का प्रयास करुंगी।

पांच स्वर्ण जीतकर राज्य तैराकी में बनी थीं बेस्ट स्वीमर
दिशा भंडारी राज्य तैराकी प्रतियोगिता की विभिन्न स्पर्धाओं में पांच स्वर्ण पदक जीतकर बेस्ट स्वीमर बनी थीं। इससे पहले भी वह मेरठ मंडल का प्रतिनिधित्व करते हुए राज्य स्तरीय सभी वर्गों की स्पर्धाओं में स्वर्ण की झड़ी लगा चुकी हैं। वहीं सीबीएसई राष्ट्रीय तैराकी प्रतियोगिता में भी इस जलपरी का शानदार प्रदर्शन रहा है। इस प्रतियोगिता में उन्होंने कई स्वर्ण अपने नाम किए हैं।

Leave a Reply