ध्रुव की कप्तानी में टीम इंडिया ने एशिया कप पर कब्जा किया

नोएडा। खेलरत्न, सं : Time, 10:00, PM.
शहर के ध्रुव जुरेल की कप्तानी में शनिवार को भारतीय अंडर-19 टीम ने एशिया कप पर कब्जा किया। श्रीलंका में खेला गया खिताबी मुकाबला बेहद रोमांचक रहा। लो स्कोर वाले इस मैच में भारतीय टीम ने पांच रनों से बांग्लादेश को हराया। मैच के आखिरी तक दोनों टीमों के बीच कांटे की टक्कर हुई। ध्रुव ने टीम के लिए 33 रनों की शानदार पारी खेली। यह स्कोर टीम का दूसरा सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर रहा।

ध्रुव जुरेल

फाइनल में में ध्रुव ने टीम के लिए 57 गेंदों पर 33 रनों की ठोस पारी खेली। उन्होंने विकेट के पीछे दो कैच भी लिए। पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय अंडर-19 टीम महज 106 रन ही बना पाई। एक समय 8 रन पर भारत के तीन बल्लेबाज पवेलियन जा चुके थे। चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए ध्रुव ने पारी को संभाला। उन्होंने शाश्वत के साथ मिलकर टीम का स्कोर 53 रन तक पहुंचाया। करन लाल ने टीम के लिए सर्वाधिक 37 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश की टीम 101 रन ही बना पाई। सेक्टर-34 के वंडर्स क्लब में खेल की बारीकियां सीख रहे ध्रुव का फाइनल से पहले संतोषजनक प्रदर्शन नहीं रहा, लेकिन फाइनल में खेली गई पारी अच्छी रही। मूल रूप से आगरा निवासी यह खिलाड़ी ग्रेटर नोएडा वेस्ट में तीन साल से अधिक समय से रह रहा है।

‘ध्रुव ने फाइनल में अच्छा प्रदर्शन कर नोएडा का नाम रोशन किया है। आखिरी मैच में उन्होंने खिलाड़ियों के साथ अच्छी साझेदारी की। कम स्कोर वाले इस मैच में ध्रुव के 33 रन काफी महत्वपूर्ण साबित हुए’
फूलचंद शर्मा, ध्रुव के स्थानीय प्रशिक्षक

ध्रुव ने इंग्लैंड में किया था शानदार प्रदर्शन
एक महीने पहले बांग्लादेश और इंग्लैंड के साथ हुई त्रिकोणीय श्रृंखला में इस विकेट कीपर बल्लेबाज ने शानदार प्रदर्शन किया था। इसी सीरीज के बाद ध्रुव को एशिया यूथ कप के लिए भारतीय अंडर-19 टीम का कप्तान चुना गया था। उन्होंने इस सीरीज में नाबाद 52, 37 और 34 गेंदों में 49 रनों की पारी खेली है। इसके अलावा विकेट के पीछे भी उनका शानदार प्रदर्शन रहा था। मार्च में वह पहली बार भारतीय अंडर-19 टीम के लिए चुने गए। तीसरी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में ही उन्हें टीम का कप्तान बना दिया गया। इस बार उनका चयन प्रदेश के सीनियर टीम में भी हो सकता है।

घरेलू श्रृंखला में बेहतर प्रदर्शन पर यूपीसीए ने सम्मानित किया
उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन ने पिछले साल कूच बिहार ट्रॉफी में सबसे अधिक रन बनाने पर यूपीसीए ने ध्रुव जुरेल को सम्मानित किया। 11 सितंबर को आयोजित एक कार्यक्रम में ध्रुव की अनुपस्थिति में उनके पिता नेमचंद जुरेल को प्रशस्ति पत्र दिया गया। ध्रुव ने कूच बिहार ट्राफी में तीन शतक सहित 1010 रन बनाए थे। उन्होंने विकेटकीपिंग में भी शानदार प्रदर्शन करते हुए गेंदबाजों का साथ दिया था। उन्होंने 55 बल्लेबाजों के कैच भी लपके। एशिया यूथ का खिताब जीतने के बाद ध्रुव रविवार को स्वदेश वापस लौटेंगे।

Leave a Reply