पीपीपी मॉडल की राह पर नोएडा क्रिकेट स्टेडियम, इनडोर नेट प्रैक्टिस की सुविधा

नोएडा। खेलरत्न, सं : Time, 9:40, PM.
नोएडा क्रिकेट स्टेडियम में पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी)ðसे सुविधाएं बढ़ेंगी। प्राधिकरण ने इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया है। राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के आयोजन के लिए यह निर्णय प्राधिकरण ने लिया है। डे-नाइट मैचों के लिए फ्लड लाइट्स, कुर्सियां लगेंगी। क्रिकेट प्रशिक्षु यहां रहकर भी खेल का प्रशिक्षण ले पाएंगे। दिल्ली एनसीआर के पहले इनडोर नेट प्रैक्टिस की सुविधा स्टेडियम में मिलेगी। 23 मई के बाद इसके लिए टेंडर निकाला जाएगा। इसके बाद स्टेडियम में सुविधाएं बढ़ाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

नोएडा क्रिकेट स्टेडियम

 

पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के आधार क्रिकेट स्टेडियम शुरू करने के लिए प्राधिकरण की तकनीकी टीम ने कई क्रिकेट ग्राउंड को देखा है। साथ ही अन्य तकनीकी पहलुओं पर बातचीत भी हो गई है। क्रिकेट स्टेडियम में फ्लड लाइट्स, कुर्सियां, डिजिटल स्केार बोर्ड, ग्राउंड की देखरेख, स्टेडियम में स्थित कमरों में सुविधाएं जुटाई जाएंगी। इन सुविधाओं के अभाव में बड़े टूर्नामेंट का आयोजन नहीं हो पा रहा है। करोड़ों रुपये खर्च होने के बाद भी स्टेडियम का पूरा उपयोग नहीं हो पा रहा है। यहां ज्यादातर स्थानीय क्रिकेट टूर्नामेंट ही खेले जा रहे हैं।
नोएडा स्टेडियम में की बाउंड्री 73 मीटर की है। जो अंतरराष्ट्रीय मैच के आयोजन के मानकों के अनरुप है। स्टेडियम की दर्शक क्षमता 25 हजार है। प्राधिकरण के वरिष्ठ प्रबंधक एससी मिश्रा ने बताया कि सुविधाएं मिलने के बाद स्टेडियम में बड़े क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन किया जा सकेगा। एक साल में क्रिकेट ग्राउंड का उपयोग कम से कम 250 से अधिक दिनों तक होना चाहिए। इसका लक्ष्य प्राधिकरण ने रखा है। आवासीय क्रिकेट प्रशिक्षण सुविधा भी शुरू की जाएगी।

स्टेडियम में रहकर भी प्रशिक्षण ले पाएंगे क्रिकेटर
नोएडा स्टेडियम में कम से कम 200 लोगों के रहने की व्यवस्था है। ऐसे में यहां आवासीय प्रशिक्षण सुविधा करने की भी तैयारी है। पीपीपी मॉडल पर आने के बाद यहां आवासी प्रशिक्षण शुरू कर दिया जाएगा। इससे शहर से और भी अच्छे क्रिकेटर निकलकर अंतरराष्ट्रीय फलक पर देश का नाम रोशन करेंगे। उत्तराखंड के देहरादून सहित अन्य जिलों में चल रहे आवासीय क्रिकेट प्रशिक्षण केंद्र में मिल रही सुविधाओं की जानकारी भी ली गई है। वर्तमान में प्राधिकरण खुद क्रिकेट स्टेडियम की देखरेख कर रहा है। जबकि नोएडा स्टेडियम की अन्य खेल सुविधाएं प्रशिक्षकों या एजेंसियों को दे दी गई है।

इनडोर नेट प्रैक्टिस के लिए होंगी आठ पिचें
क्रिकेट स्टेडियम में इनडोर नेट प्रैक्टिस की सुविधा मिलेगी। दिल्ली एनसीआर का यह पहला इनडोर नेट प्रैक्टिस की सुविधा वाला स्टेडियम होगा। यहां भी फ्लड लाइट लगाए जाएंगे। ताकि रात के समय भी क्रिकेटर नेट प्रैक्टिस कर सकें। वर्तमान में क्रिकेट स्टेडियम के बाहर के हिस्से में भी आठ पिचें बनाई गई हैं। जहां क्रिकेटर नेट प्रैक्टिस करते हैं।

Leave a Reply