रुशिल ने एशियाई टेनिस के लगातार दो खिताब अपने नाम किए

नोएडा। खेलरत्न, सं : Time, 10:30, PM.
शहर के रुशिल खोसला ने कजाकिस्तान में खेली गई एटीएफ (एशिएन टेनिस फेडरेशन) जूनियर अंडर-14 के दो अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में खिताबी जीत दर्ज की। अंडर-14 में एशिया के नंबर एक खिलाड़ी रुशिल ने अलमाटी और शिमकेंत में आयोजित टूर्नामेंट में शानदार जीत हासिल कर देश का नाम रोशन किया। शिमकेंत में हुई चैंपियनशिप पहली जून को प्रतियोगिता समाप्त हुई। इससे पहले अलमाटी में प्रतियोगिता हुई थी।

रुशिल खोसला

पहली जून को शिमकेंत में समाप्त हुई एटीएफ जूनियर 14 टेनिस चैंपियनशिप में सेक्टर-30 निवासी रुशिल ने पांच मैच जीतकर ट्रॉफी पर कब किया। खिताबी मुकाबले में रुशिल ने कजाकिस्तान के शिंगिस बेसीत को रोमांचक मुकाबले में 7-5, 5-7, 6-2 से हराया। सेमीफाइनल में भी उन्होंने रोमांचक मुकाबले में जीत दर्ज किया था। इससे पहले के तीनों मुकाबलों में उन्होंने एकतरफा जीत हासिल की थी। इससे पहले अलमाटी में खेले गए एटीएफ जूनियर अंडर-14 टेनिस चैंपियनशिप में शहर के इस खिलाड़ी ने कजाकिस्तान के दानिर कल्दिबेकोव को सीधे सेटों में 6-0, 6-1 से हराया। इस टूर्नामेंट के सभी मैच रुशिल ने सीधे सेटों में जीता। दानिर एशिया के नंबर तीन खिलाड़ी हैं। उन्होंने अलमाटी में युगल वर्ग का खिताब भी अपने नाम किया।

90 प्रतिशत मैच जीतकर बने थे नंबर एक खिलाड़ी
दोनों टूर्नामेंट से पहले रुशिल खोसला अंडर-14 में एशिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी बने थे। एशियाई जूनियर टेनिस के तीन टूर्नामेंट के 26 में से 24 मैच जीतकर यह उपलब्धि प्राप्त की। पहली अप्रैल को जारी एशियाई जूनियर टेनिस रैंकिंग में वह नंबर एक खिलाड़ी बने। अब भी वह पहले पायदान पर काबिज हैं। रुशिल बीते दस अंतरराष्ट्रीय जूनियर टेनिस प्रतियोगिता में विजेता और उपविजेता रहे हैं।

पहले पायदान पर रुशिल खोसला

रुशिल का इन प्रतियोगिताओं में भी उम्दा प्रदर्शन
एटीएफ दुबई अंडर-14 चैंपियनशिप ग्रेड वन, बहरीन एटीएफ जूनियर सीरीज और हैदराबाद एशियन अंडर-14 टेनिस टूर्नामेंट में शहर के इस खिलाड़ी ने उम्दा प्रदर्शन किया। उन्होंने दुबई में हुए टूर्नामेंट के 9 में से आठ मुकाबलों में जीत हासिल की। वहीं बहरीन में हुई प्रतियोगिता के 9 में से 9 मैच अपने नाम किए। वहीं हैदराबाद में हुई चैंपियनशिप के आठ में से सात मुकाबले जीते। इसमें एकल और युगल वर्ग के मुकाबले शामिल हैं। पिछले दस टूर्नामेंट में विजेता और उपविजेता बनने का गौरव उन्हें हासिल हुआ।

 

पढ़ाई में भी अच्छा प्रदर्शन
रुशिल खोसला पढ़ाई में भी अव्वल हैं। शिक्षा में बेहतर परिणाम के लिए वह कार में भी पढ़ाई करते हैं। अभ्यास के लिए दिल्ली जाने के दौरान वह होमवर्क निपटाते हैं, क्योंकि घर में पढ़ाई के लिए उन्हें ज्यादा समय नहीं मिल पाता। ऐसे में वह आधा घंटा ही पढ़ाई कर पाते हैं। टेनिस अभ्यास में व्यस्त रहने के कारण उन्होंने कार में पढ़ाई का यह अनूठा प्रयास किया। वह इसमें सफल भी हैं। टेनिस के साथ ही वह पढ़ाई में भी खुद को बेहतर साबित कर चुके हैं। डीपीएस का यह छात्र पांच साल से लगातार स्कोलर बैज प्राप्त कर रहे हैं।

 

Leave a Reply