तीन टूर्नामेंट के 24 मैच जीतकर रुशिल बने एशिया के नंबर वन टेनिस खिलाड़ी

नोएडा। खेलरत्न, सं : Time, 10:50, PM.
शहर के रुशिल खोसला अंडर-14 में एशिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने एशियाई जूनियर टेनिस के तीन टूर्नामेंट के 26 में से 24 मैच जीतकर यह उपलब्धि प्राप्त की। पहली अप्रैल को जारी एशियाई जूनियर टेनिस रैंकिंग जारी हुई है। सेक्टर-30 के रुशिल बीते दस अंतरराष्ट्रीय जूनियर टेनिस प्रतियोगिता में विजेता और उपविजेता रहे हैं। 31 मार्च को वह एटीएफ दुबई चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन कर वापस लौटे हैं।

 

रुशिल खोसला

रुशिल 3097 अंक लेकर अंडर-14 की एशिया टेनिस रैंकिंग में नंबर एक स्थान पर हैं। दूसरसे स्थान पर कोरियाई खिलाड़ी चांग वाहवुक काबिज हैं। उन्हें 2990 अंक मिले हैं। टॉप 10 में रुशिल के अलावा भारत का कोई और खिलाड़ी नहीं है। डीपीएस आठवीं कक्षा के छात्र रुशिल ने इस वर्ष जनवरी में एशियाई युगल अंडर-14 टेनिस के उपविजेता बने। करनाल में हुई चैंपियनशिप में विजेता बने। फरवरी में एकल और युगल देानों वर्गों में शानदार प्रदर्शन करते हुए खिताबी जीत दर्ज की। इसके अलावा अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में उम्दा प्रदर्शन करते हुए देश का नाम रोशन किया। 12 वर्षीय इस खिलाड़ी से भविष्य में होने वाली अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में उम्दा प्रदर्शन की उम्मीद की जा रही है। रुशिल चार साल से अधिक समय से टेनिस की बारीकियां सीख रहे हैं। कई टूर्नामेंट में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। दुबई में हाल में समाप्त हुए एटीएफ दुबई अंडर-14 टेनिस टूर्नामेंट के नौ मैचों में आठ में जीत दर्ज की। बहरीन में भी हुए टूर्नामेंट में उन्होंने सभी आठ मैचों में जीत हासिल की। हैदराबाद में हुई एशियाई टूर्नामेंट के 10 में से नौ मैच जीते। रुशिल की मां रजनी खोसला ने बताया कि रुशिल के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने हमें गौरवान्वित किया है।

इन टूर्नामेंट में किया उम्दा प्रदर्शन
एटीएफ दुबई अंडर-14 चैंपियनशिप ग्रेड वन, बहरीन एटीएफ जूनियर सीरीज और हैदराबाद एशियन अंडर-14 टेनिस टूर्नामेंट में शहर के इस खिलाड़ी ने उम्दा प्रदर्शन किया। उन्होंने दुबई में हुए टूर्नामेंट के 9 में से आठ मुकाबलों में जीत हासिल की। वहीं बहरीन में हुई प्रतियोगिता के 9 में से 9 मैच अपने नाम किए। वहीं हैदराबाद में हुई चैंपियनशिप के आठ में से सात मुकाबले जीते। इसमें एकल और युगल वर्ग के मुकाबले शामिल हैं। पिछले दस टूर्नामेंट में विजेता और उपविजेता बनने का गौरव उन्हें हासिल हुआ।

Leave a Reply