राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंच समायरा ने रचा इतिहास

नोएडा। खेलरत्न, सं :: Time, 2:00, PM.
शहर की समायरा पंवार ने राष्ट्रीय अंडर-13 बैडमिंटन चैंपियनशिप में उम्दा प्रदर्शन करते हुए फाइनल तक का सफर तय किया। यह उपलब्धि प्राप्त करने वाली समायरा जिले की पहली शटलर हैं। आंध्र प्रदेश में खेली जा रही प्रतियोगिता का खिताबी मुकाबला रविवार को खेला जाएगा। प्रतियोगिता में यूपी का प्रतिनिधित्व कर रहीं समायरा खिताब की भी प्रबल दावेदार मानी जा रही हैं।

समायरा पंवार

समायरा ने आठवीं वरीयता प्राप्त जिया रावत को 18-21, 21-12, 21-13 से मात दी। जिले की यह शटलर सेमीफाइनल में पहला सेट गंवा चुकी थीं। इसके बाद उन्होंने शानदार वापसी करते हुए दोनों सेट अपने नाम कर लिया। 18-21 से पहला सेट हारने के बाद समायरा ने अपना दमदार खेल दिखाया। उन्होंने दूसरा सेट 9 अंक और तीसरा सेट 8 अंकों के बड़े अंतर से जीता। समायरा को प्रतियोगिता में दूसरी वरीयता मिली हुई है। सेमीफाइनल से पहले समायरा ने चार मुकाबले जीते। सभी मुकाबलों में उन्होंने प्रतिद्वंद्वी टीम को सीधे सेट में मात दी। समायरा इससे पहले राष्ट्रीय रैकिंग प्रतियोगिता जीत चुकी हैं, लेकिन राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप में पहली बार फाइनल में पहुंची हैं।
अब फाइनल में उनका मुकाबला चौथी वरीयता प्राप्त नव्या कंडेरी से होगा। नव्या ने सेमीफाइनल के रोमांचक मुकाबले में उन्नति हूडा को हराया। जिला बैडमिंटन संघ के महासचिव आनंद खरे ने बताया कि यह हमारे लिए गौरव की बात है कि जिले की खिलाड़ी ने राष्ट्रीय प्रतियोगिता के फाइनल में जगह पक्की की। उनसे खिताब जीतने की भी उम्मीद है।

 

प्रतिदिन छह घंटे अभ्यास से मिली मंजिल
राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप तक के सफर के पीछे समायरा की कड़ी मेहनत शामिल हैं। वह प्रतिदिन करीब 6 घंटे का अभ्यास करती हैं। सुबह पांच बजे से दिनचर्या शुरू करने वाली समायरा सुबह तीन घंटे अभ्यास करती हैं। करीब 10 बजे से वह दो घंटे आराम करती हैं। शाम को दो घंटे तक फिटनेस और योग के लिए समय देती हैं। पढ़ाई के लिए साढ़े सात बजे से साढ़े नौ बजे तक का समय निर्धारित है। समय रहने की स्थिति में वह स्कूल जाती हैं। जेनेसिस ग्लोबल स्कूल की आठवीं कक्षा की यह छात्रा हफ्ते में दो-तीन दिन ही स्कूल जा पाती है।

समायरा की उपलब्धियां :
-यूपी स्टेट बैडमिंटन चैंपियनशिप अंडर-15 और 17 की विजेता रहीं
-आईसीएसई बोर्ड राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियनशिप अंडर-17 की विजेता
-राष्ट्रीय स्तर की कई रैंकिंग प्रतियोगिता की विजेता बनीं
-अंडर-13 में देश की नंबर दो खिलाड़ी हैं
-अंडर-15 में भी इनकी राष्ट्रीय रैंकिंग 28 है

Leave a Reply