उत्तर प्रदेश के सामने हरियाणा सबसे बड़ी चुनौती

नोएडा। खेलरत्न, सं :
राष्ट्रीय महिला फुटबॉल प्रतियोगिता में उत्तर प्रदेश के सामने सबसे बड़ी चुनौती हरियाणा होगी। प्रदेश का पहला मैच हरियाणा से 18 मई को है। नोएडा में प्रदेश की फुटबॉल टीम ने 15 दिनों तक अभ्यास किया। सोमवार को यहां से पंजाब के फगवाड़ा के लिए रवाना हुई।
हरियाणा के साथ होने वाला मुकाबला प्रदेश के लिए इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि, अगर टीम इस टीम से ड्रॉ खेलने में भी सफल होती है तो उसके टॉप 16 में जाने संभनाएं बढ़ जाएंगी। प्रदेश को त्रिपुरा और अरुणाचल प्रदेश के साथ दूसरा और तीसरा मैच खेलना है। जो यूपी के मुकाबले थोड़ी कमजोर टीमें मानी जा रही है। ऐसे में अगर हरियाणा के साथ टीम बेहतर खेल दिखाने में सफल होती है तो प्री क्वार्टर फाइनल का रास्ता आसान हो जाएगा। प्रदेश की टीम में दो अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों का होना टीम की मजबूती है, लेकिन बीते वर्ष के मुकाबले टीम थोड़ी कमजोर है। ऐसे में प्री क्वार्टर फाइनल और क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए खिलाड़ियों को कड़ी मेहनत करनी होगी।

उत्तर प्रदेश फुटबॉल की महिला टीम. सोमवार को राष्ट्रीय महिला फुटबॉल प्रतियोगिता में भाग लेने पंजाब के फगवाड़ा के लिए रवाना हुई

‘हमारी टीम बैलेंस्ड है। पहले मैच में बेहतर प्रदर्शन करने का पूरा प्रयास होगा। अभ्यास सत्र में खामियों को खत्म करने और स्किल को बेहतर करने के लिए खिलाड़ियों ने कड़ी मेहनत की है। उम्मीद है कि परिणाम भी सकारात्मक होंगे।’

मुकेश सबरवाल, मुख्य प्रशिक्षक, उत्तर प्रदेश महिला टीम

उत्तर प्रदेश टीम की मजबूती
-पिंकी और सपना झा जैसे अंतरराष्ट्रीय अनुभव की महिला खिलाड़ी
-मध्यपंक्ति में ब्यूटी केसरी, विशाखा भंडारी को बागडोर
-अभ्यास सत्र में गलतियों को सुधारने के लिए विशेष अभ्यास, बेहतर मनोबल
टीम की कमजोरी
-अभी भी खिलाड़ियों में तालमेल की कमी, जिसे ग्राउंड पर ठीक करना जरुरी
-बीते वर्ष राष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिता में टीम तीन मुकाबलों में महज गोवा से ही ड्रॉ कर पाई थी

सोमवार सुबह हुई टीम की घोषणा
दो सप्ताह के अभ्यास सत्र के बाद प्रदेश फुटबॉल टीम की घोषणा सोमवार को की गई। 20 सदस्यीय टीम में लक्ष्मी चौधरी, सपना झा, अर्चना कुमारी, सुशीला कुमारी, गुंजन प्रजापति, ब्यूटी केसरी, विशाखा भंडारी, मिनल सिंह, सुजाता पांडेय, पिंकी कुमारी, श्रद्धा सोनकर, सोनाली, कोमल रावत, अंजु प्रिया, प्रतीक्षा सिंह, रेनुका, मंजुलिका, सोनी रत्नाकर, मानसी अरोड़ा और परवीन बानो का चयन किया गया है। टीम की घोषणा मनोज कुमार गोयल ने की। अभ्यास सत्र लगाने के लिए प्राधिकरण के डीसीईओ सौम्य श्रीवास्तव ने सभी सुविधाएं मुहैया कराईं। खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाने के लिए रविवार रात को एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें प्राधिकरण के परियोजना अभियंता एससी मिश्रा, जिला फुटबॉल संघ के अध्यक्ष सुशील राजपूत, विनय कुमार शर्मा, आशुतोष गौड़, आजाद सिंह, त्रिलोक सिंह विष्ट, एनईए के कुशलपाल सिंह, अशोक शर्मा, रतन रावत, वाजिद अली सहित कई लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply